भूगोल की डिग्री  कितना मायने रखती है?(How much does geography degree matter)


भूगोल की डिग्री (Geography Degree)- 

भूगोल   तो एक शब्द है जिसे प्रकृति को समझने के  लिए एक नाम की  तथा पहचान की आवश्यकता थी ।  जिसे इरेथोस्थनीज ने नाम देकर पूरा किया । तथा इसे उच्चतम शिखर तक पहुचाने का श्रेय  हिकेटियस को जाता है जिन्हें भूगोल का पिता कहा जाता है। 

भूगोल एक दर्शन  शास्त्र के  साथ-साथ  यह विज्ञान भी  है । आज के तारीख में भूगोल में डिग्री  का अर्थ उसके रैंक से लगाया जा सकता है भूगोल में आप अपने दिमाग को जितना  बढ़ाये उतना ही कम है।  क्योंकि चाहे वह पृथ्वी का ज्ञान हो या अन्तरिक्ष का । 


भूगोल की डिग्री का क्षेत्र- 

भूगोल जिसमे भू- विज्ञान (Geology), भौतिक विज्ञान (Physical geography), मानव भुगोल (Human Geography), अंतरिक्ष विज्ञान ( Space Science)  आदि सभी विज्ञान भूगोल विज्ञान में आते है ।

इसमे कुछ ऐसे विज्ञान है जो दर्शन शास्त्र की तरह है लेकिन कुछ ऐसे  विषय क्षेत्र है जो पूरा  साइंस  है।

1.भू- विज्ञान(Geology)-

भूगोल में यह क्षेत्र science का है  जिसकी डिग्री हासिल करने के लिए  10+2 mathe से पास होना चाहिए । और  physics ,Chemestry तथा mathe  तीनो में   55%से अधिक होने चाहिए । क्योंकि इतना नंबर आवश्यक होता है इसमें इसी पर भूमि विज्ञान पढ़ाया जाता है।  Intermediate pass  होने के बाद BSc. (Geology ) में  प्रवेश लेने के बाद इसमे 3 साल की डिग्री प्राप्त होती है।

इसमे  पृथ्वी (Earth),चट्टान(Rocks), खनिज (Minerals), solid तत्व ,physical एंड chemical properties आदि सभी के बारे में अध्ययन किया जाता है । इसमें  केमिकल प्रोपर्टीज कैसे चेंज होते है ।आदि सभी के बारे में अध्ययन किया जाता है।  
 जब Bsc.(geology) पूरा कर लेते है तो किसी एक मे मास्टर की डिग्री लेने के लिए MSc.(Geology)करते है । जिसमे किसी एक क्षेत्र का गहन जानकारी दिया जाता है। 

इन क्षेत्रों से सम्बंधित विषयवस्तु होते हैं


Geography  दो भागों में  बंटा गया है जिसमे 
1.भौतिक भूगोल  (Physical Geography)2. मानव भूगोल (Human Geograohy)


भौतिक भूगोल (Physical Geography) के विषयवस्तु 

भूमि विज्ञान(Earth Science)
खनिज विज्ञान(Mineral Science)
भू-रसायन(Geochemistry)
संरचनात्मक भूगर्भशास्त्र (Structural geology)
रूपांतरित या कायान्तरित शिला चट्टान(Metamorphic Petrology)
जलभूगर्भशास्त्र (Hydrogeology)
आर्थिक भूगर्भशास्त्र (Economic  Geology)
जीवाष्म विज्ञान (Paleontology)
भू-भौतिकी (Geophysics)
ज्वालामुखी विज्ञान ( Volcanology)
भूकम्प विज्ञान(Seismology)
भू स्तर विज्ञान(Stratigraphy)
पेट्रोलियम विज्ञान(Petroleum Geology)
ग्रह विज्ञान (Planetary Geology)
कन्दरा शास्त्र (Speleology)
खगोल विज्ञान (Astronomy/ Astrology)
पर्यावरण भूगोल (Environmental Geograohy)
पारिस्थिकी भूगोल (Ecosystem Geograohy)